Category Archives: Business Tycoons

MDH Poster-man

MDH के सबसे प्रसिद्द चेहरे महाशय धर्मपाल गुलाटी का जन्म 27 मार्च 1923 को सिआलकोट, पाकिस्तान में एक व्यापारी परिवार में हुआ था | भारत बटवारे के बाद ये भारत आ गए और अमृतसर शरणार्थी कैंप में रहने लगे | इसके बाद काम की तलाश में ये दिल्ली आ गए | इस बीच इन्होने तांगा चलने से लेकर सडको पर मसाला बेचने तक का काम किया |

1953 मे दिल्ली में इन्होने करोल बाग़ में मसालों की एक दूकान खोली | उसके बाद 1959 में चांदनी चौक में मसालों की दूसरी दूकान खोली | इन्होने कीर्ति नगर, नै दिल्ली में भूमि खरीदी जहा इन्होने मसालों के निर्माण के लिए फैक्ट्री लगे जिसका नाम Mahashian Di Hatti (MDH) रखा गया | इनके पिता महाशय चुन्नी लाल गुलाटी MDH के निर्माणकर्ता माने जाते है |

MDH-Masala

MDH मसालों में सबसे ज्यादा बिकने वाला ब्रांड है | महाशय धर्मपाल गुलाटी सबसे ज्यादा वेतन लेने वाले सीईओ है| लेकिन ये अपने वेतन का 90% अपने पिता के नाम से चलाये जाने वाले महाशय चुन्नी लाल चैरिटेबल ट्रस्ट को दे देते है जिसके द्वारा 250 बिस्तरों वाला हॉस्पिटल, मोबाइल हॉस्पिटल और 4 स्कूल गरीब बच्चो के लिए चलाये जाते है|

महाशय धर्मपाल गुलाटी सन 2019 में भारत के तीसरे नागरिक सम्मान ‘पदम् भूषण’ से सम्मानित किये जा चुके है |

#rahulinvision

The Next Tycoons

ईशा और आकाश अंबानी

24_07_2017-akash,-isha-jio-phone

ईशा और आकाश मुकेश अंबानी के जुड़वां बच्चे हैं। ईशा पहली बार 16 साल की उम्र में तब चर्चा में आई जब फोर्ब्स ने उन्हें विश्व के सबसे युवा अरबपति उत्तराधिकारियों की सूची में दूसरे स्थान पर रखा था। यही नहीं ईशा और आकाश को रिलायंस जियो इन्फोकॉम लिमिटेड और रिलायंस रिटेल वेंचर्स लिमिटेड के निदेशक मंडल में नियुक्त किया गया था। उनके पिता यानी मुकेश अंबानी भारत के सबसे अमीर व्यक्ति है |

रोशनी नाडर

second-time-mummy-hcl-ceo-roshni-nadar-in-the-family-way.jpg

भारत की अरबपति बेटियों में रोशनी नाडर का नाम बड़े गर्व से लिया जाता है। यह दुनिया में मशहूर भारतीय अरबपति शिव नाडर की सुपुत्री हैं। इस समय वह 5 अरब डॉलर की टेक कंपनी HCL ग्रुप की सीईओ हैं। रोशनी स्काई न्यूज यूके न्यूज़ प्रोडूसर का काम करती थी जिसे छोड़ कर 2008 में भारत आयी और अपने पिता के व्यवसाय को संभालने लगी। इसके अलावा वह अपने पिता की शिव नाडर फाउंडेशन के एजुकेशन इनिशटिव की भी देख रेख करती हैं।

अदार साइरस पूनावाला

1000x-1.jpg

अदार अपने पिता की कंपनी सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया के सीईओ हैं। अदार पूनावाला ने वेस्टमिंस्टर विश्वविद्यालय यूके से बिजनेस मैनेजमेंट में ग्रैजूएशन किया है। जिसके बाद उन्होंने अपने पिता साइरस पूनावाला की बनायीं हुई सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया लिमिटेड का संचार संभाला। इस समय इस कंपनी का कारोबार 140 देशों में फैला हुआ है और यह दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी वैक्सीन निर्माता कंपनी है।

केविन भारती मित्तल

12-1502521541-20-1469005670-2kavinbhartimittal.jpg

केविन भारतीय मित्तल, सुनील भारतीय मित्तल के बेटे हैं। केविन को बिजनस का गुण उनके पिता से विरासत में मिला है। उन्होंने 20 साल की उम्र में ही ऐपशार्क कंपनी की स्थापना कर दी। यह कंपनी मोबाइल फोन के लिए ऐप्लिकेशन डिजाइन करती है। 2012 में केविन ने इंस्टैंट मेसेंजिंग ऐप ‘हाइक’ की स्थापना की। जिसे अब तक इस्तेमाल करने वाले 20 मिलियन उपभोक्ता हैं।

आनंद पिरामल

anand-piramal-1.jpg

अजय पिरामल के बेटे आनंद पिरामल ने 31 वर्ष की उम्र में अपने पिता का व्यापार देखना शुरू कर दिया था। हेल्थ केयर, ग्‍लास मेकिंग, और फण्ड मैनेजमेंट का 4 अरब डॉलर का व्यापार छोड़ कर आनंद पिरामल ने पिरामल रियल्टी की स्थापना की, जिसे उन्होंने सिर्फ मुंबई और उसके बाहरी इलाके तक ही सीमित रखा।

अनन्यश्री बिड़ला

12-1502521560-20-1469005973-5ananyashreebirla.jpg

अनन्याश्री मशहूर बिजनेसमैन कुमार मंगलम बिड़ला की बेटी हैं। ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी से पढ़ीं अनन्या अपने पिता की कम्पनी में माइक्रोलोन डिविजन संभालती हैं। ख़ास बात तो यह है कि इस लोन डिविजन की शुरुआत खुद अनन्याश्री ने की है। अपने प्रोजेक्ट के जरिए वे वुमन एम्पावरमेंट करना चाहतीं हैं। उन्होंने स्कूल में ही फैसला कर लिया था कि वह सामाजिक उद्यमी बनेंगी। स्वतंत्र माइक्रोफाइनैंस की महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश के कई जिलों में 20 से अधिक शाखएं हैं और यहां 100 से ज्यादा कर्मचारी काम करते हैं।

#rahulinvision