Tag Archives: music

Diary : Lata Mangeshkar

लता का जन्म मराठो ब्राह्मण परिवार में, मध्य प्रदेश के इंदोर शहर में सन 1929, 28 सितम्बर को घर की सबसे बड़ी बेटी के रूप में पंडित दीनानाथ मंगेशकर के मध्यवर्गीय परिवार में हुआ। उनके पिता रंगमंच के कलाकार और गायक थे। इनके परिवार से भाई हृदयनाथ मंगेशकर और बहनों उषा मंगेशकर, मीना मंगेशकर और आशा भोसले ने संगीत को ही अपनी आजीविका के लिये चुना।

हालाँकि लता का जन्म इंदौर में हुआ था लेकिन उनकी परवरिश महाराष्ट्र मे हुई| वह बचपन से ही गायक बनना चाहती थीं। बचपन में कुंदन लाल सहगल की एक फ़िल्म चंडीदास देखकर उन्होने कहा था कि वो बड़ी होकर सहगल से शादी करेगी। पहली बार लता ने वसंग जोगलेकर द्वारा निर्देशित एक फ़िल्म कीर्ती हसाल के लिये गाया। उनके पिता नहीं चाहते थे कि लता फ़िल्मों के लिये गाये, इसलिये इस गाने को फ़िल्म से निकाल दिया गया। लेकिन उसकी प्रतिभा से वसंत जोगलेकर काफी प्रभावित हुये।

वर्ष 1942 ई में लताजी के पिताजी का देहांत हो गया इस समय इनकी आयु मात्र तेरह वर्ष थी. भाई बहिनों में बड़ी होने के कारण परिवार की जिम्मेदारी का बोझ भी उनके कंधों पर आया गया था. दूसरी ओर उन्हें अपने करियर की तलाश भी थी | पिता की मृत्यु के लता को पैसों की बहुत किल्लत झेलनी पड़ी और काफी संघर्ष करना पड़ा। उन्हें अभिनय पसंद नहीं था लेकिन पिता की असामयिक मृत्यु की वज़ह से पैसों के लिये उन्हें कुछ फ़िल्मों में काम करना पड़ा। अभिनेत्री के रूप में उनकी पहली फ़िल्म पाहिली मंगलागौर (1942) रही, जिसमें उन्होंने स्नेहप्रभा प्रधान की छोटी बहन की भूमिका निभाई। बाद में उन्होंने कई फ़िल्मों में अभिनय किया जिनमें, माझे बाल, चिमुकला संसार, गजभाऊ, बड़ी माँ, जीवन यात्रा, माँद आदि शामिल थी। बड़ी माँ, में लता ने नूरजहा के साथ अभिनय किया और उसके छोटी बहन की भूमिका निभाई आशा भोसले ने | उन्होंने खुद की भूमिका के लिये गाने भी गाये और आशा के लिये पार्श्वगायन किया।

1945 में उस्ताद गुलाम हैदर अपनी आनेवाली फ़िल्म के लिये लता को एक निर्माता के स्टूडियो ले गये जिसमे कामिनी कौशल मुख्य भूमिका निभा रही थी। वे चाहते थे कि लता उस फ़िल्म के लिये पार्श्वगायन करे। लेकिन गुलाम हैदर को निराशा हाथ लगी। 1947 में वसंत जोगलेकर ने अपनी फ़िल्म आपकी सेवा में में लता को गाने का मौका दिया। इस फ़िल्म के गानों से लता की खूब चर्चा हुई। इसके बाद लता ने मज़बूर फ़िल्म के गानों “अंग्रेजी छोरा चला गया” और “दिल मेरा तोड़ा हाय मुझे कहीं का न छोड़ा तेरे प्यार ने” जैसे गानों से अपनी स्थिती सुदृढ की। हालाँकि इसके बावज़ूद लता को उस खास हिट की अभी भी तलाश थी।

1949 में लता को ऐसा मौका फ़िल्म “महल” के “आयेगा आनेवाला” गीत से मिला। इस गीत को उस समय की सबसे खूबसूरत और चर्चित अभिनेत्री मधुबाला पर फ़िल्माया गया था। यह फ़िल्म अत्यंत सफल रही थी और लता तथा मधुबाला दोनों के लिये बहुत शुभ साबित हुई। इसके बाद लता ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा |

तब से अब तक लता दीदी 30,000 से ज्यादा गाने गा चुकी है | लता दीदी की जादुई आवाज़ की पूरी दुनिया दीवानी हैं। टाइम्स पत्रिका ने उन्हें भारतीय गायिका की अपरिहार्य और एकछत्र साम्राज्ञी स्वीकार किया है। लता दीदी को भारत रत्न भी मिला है ।

लता दीदी की गाये गए कुछ अनमोल गीत –

लग जा गले…. (फिल्म : वो कौन थी ?)

अजीब दासता है ये…. (फिल्म : दिल अपना और प्रीत पराई)

दिल दीवाना…. (फिल्म : मैंने प्यार किया)

दो पल रुका….. (फिल्म : वीर ज़ारा)

दीदी तेरा देवर…. (फिल्म : हम आप के है कौन ?)

#rahulinvision

 

 

Lady Gaga

स्टेफनी जोआन एंजेलिना जर्मनोटा जिन्हें पेशेवर रूप से लेडी गागा के नाम से जाना जाता है का जन्म 28 मार्च 1986 को न्यूयॉर्क में एक इतालवी-अमेरिकी धार्मिक परिपाटियों पर चलने वाले रूढ़िवादी मध्यवर्गीय परिवार में हुआ था । लेडी गागा पिता छोटे से व्यवसायी थे, मां भी बाहर नौकरी करती थीं। न्यूयॉर्क की एक साधारण-सी बस्ती में उनका अपना मकान था। गागा ने अपनी शिक्षा मेनहटन कट्टर कैथोलिक स्कूल से ग्रहन की थी, जो की केवल लड़कियों के लिए था। गागा को बचपन से ही संगीत का बहुत शोक था। महज चार साल की उम्र में वह पियानो में पारंगत हो गईं। कुछ और बड़ा होते-होते नृत्य कला व 17 साल की उम्र में गाने लिखने लगीं, म्यूजिक की रचना करने लगीं। इसी उम्र में उन्हें उनकी प्रतिभा न्यूयोर्क विश्वविधयालय के उस स्कूल ऑफ आर्ट्स में ले गई। 2007 में वह क्लबों में लेडी गागा के नाम से परफॉर्म करने लगीं। लोगों की नजर उन पर पड़ी। हैं। म्यूजिक करियर बनाने के लिए ड्रॉप आउट होने से पहले उन्होंने न्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी के टिस्क्यू स्कूल ऑफ आर्ट्स के माध्यम से कोलैबोरेटिव आर्ट्स प्रोजेक्ट 21 में अध्ययन किया। जब डेम जैम रिकॉर्डिंग ने उसका अनुबंध रद्द कर दिया, तो उन्होंने सोनी/एटीवी म्यूज़िक पब्लिशिंग के लिए एक गीतकार के रूप में काम किया सही मायनों में उन्हें आगे बढ़ाया पॉप सुपर स्टार एकान ने। वह एकॉन के दल में गाने भी लगीं। साथ में संगीत कंपनी इंटरस्कोप के लिए गाने भी लिखतीं। इसी दौरान इंटरस्कोप के साथ उन्होंने अपने पहले सोलो गाने जस्ट डांस की तैयारी शुरू की। इसे अप्रैल 2008 में रेडियो पर रिलीज किया। लेकिन पूरा गाना अगस्त तक रिलीज हो पाया।

जस्ट डांस ने धीमे-धीमे गति पकड़ी। बिलबोर्ड हॉट 100 में जगह बनाने के बाद गागा की विख्याति दुनियाभर मे फैल गई। इलेक्ट्रोपॉप रिकॉर्ड द फेम, और इसके चार्ट-टॉपिंग एकल “जस्ट डांस” और “पोकर फेस”। एक फॉलो-अप, द फेम मॉन्स्टर (2009), जिसमें “बैड रोमांस”, “टेलीफोन” और “एलेजांद्रो” शामिल हैं, भी सफल रहे। लेडी गागा को एक अमेरिकी गायिका, गीतकार और अभिनेत्री के रूप मे देखा जाने लगा | वह अपनी अपरंपरागत, उत्तेजक कार्य और दृश्य प्रयोग के लिए जानी जाती हैं |

हाल ही मे लेडी गॅगा को ऑस्कर अवॉर्ड से नवाज़ा गया है |

#rahulinvision